Home

कनाडा प्रवास, Canada residence, कनाडा की भाषाएं, Languages in Canada, कनाडा में फ़्रांसीसी भाषा, French language in Canada, क्यूबेक में फ़्रेंच, French in Quebec

“आज ख्रिस्तीय नववर्ष, 2017, के आरंभ का पहला दिन है। आधुनिक काल में इसे एवं इसकी पूर्वसंध्या को विश्व में प्रायः सर्वत्र एक पर्व के तौर पर हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस अवसर पर देश-विदेश के सभी नागरिकों को मेरी शुभाकांक्षाएं।”

अधिकांश भारतीयों को यह भ्रम है कि दुनिया में अंग्रेजी सर्वत्र चलती है। ऐसा वस्तुतः है नहीं। अपने लगभग सात सप्ताह के कनाडा प्रवास के दौरान अंग्रेजी एवं फ़्रांसीसी भाषा को लेकर जो मैंने अनुभव किया उसे पाठकों के साथ इस लेखमाला के माध्यम से साझा कर रहा हूं। उद्येश्य यह समझाना है कि कनाडा तक में अंग्रेजी उतनी नहीं चलती है जितनी लोग सोचते होंगे। दुर्भाग्य है कि दुराग्रह से ग्रस्त व्यक्ति वास्तविकता को भी नकार देता है।

पहले एक छायाचित्र, नियागरा जलप्रपात (कनाडा) का –

%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%97%e0%a4%b0%e0%a4%be-%e0%a4%9c%e0%a4%b2%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%a4

कनाडा: संक्षिप्त परिचय

विगत ग्रीष्मकाल के दौरान मैं एवं मेरी पत्नी उत्तरी अमेरिकी द्वीप के देश कनाडा (Canada) के एक छोटे शहर लंडन (London) में अपने बेटे-बहू के पास लगभग 45-50 दिन के लिए प्रवास पर रहे। यहां यह बता दूं कि अंग्रेजों ने कनाडा के कई शहरों, राजमार्गों, नदियों आदि के नाम ब्रिटेन में प्रचलित नामों पर ही रखा। लंडन नाम इंग्लैंड के लंडन के नाम की नकल है। दिलचस्प यह भी है कि इस शहर में एक छोटी-सी नदी बहती है जिसका नाम भी इंग्लैंड के टेम्स (Thames) नदी के नाम पर ही है।

कनाडा प्रमुखतया अंग्रेजों का उपनिवेश हुआ करता था। क्यूबेक (Quebec) नाम से ज्ञात उसके पूर्वी समुद्रतटीय  प्रदेश और उसके आसपास का अपेक्षया छोटा इलाका कभी फ़्रांसीसी (फ़्रेंच) उपनिवेश हुआ करता था। किंतु उसे अंग्रेजी ने 1770 के दशक के युद्ध में फ़्रांसीसी सरकार से जीत लिया था।

कनाडा को जुलाई 1, 1967, में ब्रितानी राज से पूर्ण स्वायत्तता मिल गयी थी, लेकिन  संप्रभु राष्ट्र का दर्जा ब्रिटेन ने नहीं दिया। इस तारीख को कनाडावासी स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं। सन्  1982 में  कनाडा ऐक्ट (Canada Act) के पारित होने के बाद वह देश औपचारिक रूप से एक संप्रभु राष्ट्र बन गया।

नाडा की कुल आबादी करीब 3.6 करोड़ है और क्षेत्रफल करीब 91 लाख वर्ग किमी। उसकी तुलना में भारत की अनुमानित आबादी इस समय 130+ करोड़ है, यानी कनाडा से लगभग 36 गुना अधिक। किंतु भारत का क्षेत्रफल उसकी अपेक्षा केवल एक-तिहाई है। इस प्रकार कनाडा में प्रति व्यक्ति भूमि की उपलब्धता भारत की अपेक्षा करीब दस गुना – जी हां दस गुना – अधिक है। यह बात भी ज्ञातव्य है कि उस देश का अधिकांश भाग, विशेषतः पूर्व से पश्चिम तक का उत्तरी क्षेत्र, मानव जीवन-यापन के अनुकूल नहीं है। इसलिए कनाडा में लोग अमेरिका से लगे सीमावर्ती दक्षिणी क्षेत्र में ही वसे हैं।

कनाडा – आधिकारिक भाषाएं

कनाडा में राजकाज की दो आधिकारिक भाषाएं (Official Languages) हैं: अंग्रेजी (English) और फ़्रांसीसी (French)। फ़्रांसीसी बोलने वाले करीब 85 लाख है, अर्थात्‍ कुल जनसंख्या का लगभग एक-चौथाई। इनमें से 82 लाख के करीब अकेले क्यूबेक (Quebec) प्रांत में हैं; शेष करीब 3 लाख छोटे प्रांतों, न्यू ब्रुंसविक (New Brunswick) (2 लाख 34 हजार), मनिटोबा (Manitoba) (47.6 हजार), तथा नोवा स्कोटिया (Nova Scotia) (34.5 हजार) में रहते हैं। क्यूबेक प्रांत की अपनी आधिकारिक भाषा केवल फ़्रांसीसी है। उक्त अन्य की फ़्रांसीसी के साथ अंग्रेजी भी है।

कनाडा के अन्य प्रांतों की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है। मैं जिस शहर लंडन (London, Canada) में रहा वह कनाडा के ऑंटारिओ (Ontario) प्रांत में है। कनाडा का सबसे बड़ा शहर टोरंटो (Toronto) है (आबादी करीब 60 लाख), जिसका  फ़्रांसीसी उच्चारण टोरानो है, इसी प्रांत में है। लंडन शहर इस शहर से 191 किमी की दूरी पर है।

ऑंटारिओ एवं क्यूबेक में फ़्रांसीसी भाषा

कनाडा की राजधानी ओटवा (Ottawa) है जो इसी नाम की नदी के दक्षिणी किनारे पर बसा है (आबादी करीब 13 लाख)। ऑंटारिओ एवं क्यूबेक प्रांतों की विभाजक सीमा रेखा भी यही नदी है। नदी के दूसरी ओर बसा है फ़्रेंचभाषी क्यूबेक प्रांत का गैटनो (gatineau) शहर। स्पष्ट है कि क्यूबेक की सन्निकटता के कारण राजधानी ओटवा में फ़्रेंचभाषा का प्रचलन काफी हद तक होना स्वाभाविक है। दरअसल प्रांत ऑंटारिओ के क्यूबेक से लगे होने के कारण उसके सीमावर्ती क्षेत्र में अंग्रेजी के साथ फ़्रेंचभाषा का भी कुछ हद तक प्रचलन देखने को मिलता है।

कनाडा का शहर टोरंटो या टोरानो भी क्यूबेक प्रांत के निकट है और उससे कुछ दूरी पर लंडन शहर है (आबादी 5 लाख) । वहां भी यदाकदा फ़्रेंच का प्रयोग देखने को मिल जाता है। एक बार मैं लंडन के ह्यूरॉन सड़क पर टहल रहा था तो मेरी नजर एक चैपल (Chapel) पर पड़ी जिसके परिसर में प्रदर्शित सूचनापट्ट पर केवल फ़्रांसीसी में लिखा है। देखें प्रस्तुत छायाचित्र (फोटो)।

catholic-church-info-london-ontario

मेरा अनुमान है कि चित्र में दिख रहा धार्मिक स्थल चैपल लंडन में रह रहे मुख्यतः फ़्रेंचभाषियों के लिए स्थापित है। इस पर अंकित जानकारी में अंग्रेजी कहीं नहीं है। लंडन शहर प्रमुखतया अंग्रेजीभाषी है, फिर भी वहां कुछ लोग फ़्रेंच को तवज्जो देते हैं।

चूंकि कनाडा की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी के साथ फ़्रांसीसी भी है अतः सरकारी कामकाज दोनों में होता है। प्रांतों की इनमें से एक अपनी भाषा है और उनका कार्य उसी भाषा में होता है। क्यूबेक में केवल फ़्रांसीसी चलती है यह मैं अगले दो लेखों में स्पष्ट करूंगा। यहां मैं इतना बता दूं कि वहां उपलब्ध उपभोक्ता सामग्री पर प्रायः दोनों भाषाओं में जानकारी छपी रहती है। भारत से आयातित कई उत्पादों पर मैंने अंग्रेजी के साथ फ़्रांसीसी में भी जानकारी छपी देखी है। ये ही उत्पाद जब भारत के भीतर उपभोग के लिए उपलब्ध होती हैं तो उन पर न क्षेत्रीय भाषा में और न ही राजभाषा हिन्दी में जानकारी दी जाती है।

भारत – अपनी भाषाएं तिरस्कृत

उक्त बात दर्शाती है कि इस देश में देशज भाषाओं को कोई अहमियत नहीं मिलती है। देश में अंग्रेजी जानने वाले 10-11% से अधिक नही होंगे, फिर भी उपभोक्ता को केवल अंग्रेजी में जानकारी देना इस देश के लोगों की हीनभावना या गुलाम मानसिकता अथवा सामाजिक असमानता बनाए रखने के विचार का द्योतक है ऐसा मेरा सोचना है।

मैं अगले दो आलेखों में क्यूबेक के मोंट्रियाल (आबादी 38-39 लाख के बीच) एवं क्यूबेक (आबादी 8 लाख) शहरों में फ़्रेंच के बोलबाले की चर्चा करूंगा।

Tags: